grah-kalah-dur-karne-ke-upay

Whatever the disagreement, the result is extremely fatal. It is believed that there is no habit of Maa Lakshmi when there is distress. Occasionally there is a situation in the family that some problem takes the form of discord. All the pleasures, even after prosperity, discord can not be overcome. Vaastu Shastra has given some easy remedies which will dispel discord with your life forever. Let’s know about them.

कलह कैसा भी हो, इसका परिणाम बेहद घातक होता है। माना जाता है कि जहां क्लेश होता है, वहां मां लक्ष्मी का वास नहीं होता। कभी-कभी परिवार में ऐसी स्थिति आ जाती है कि कोई समस्या कलह का रूप ले लेती है। तमाम सुख सुविधाएं, संपन्नता होने के बाद भी कलह दूर नहीं हो पाता है। वास्तु शास्त्र में कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं जो आपके जीवन से कलह को हमेशा के लिए दूर कर देंगे। आइए जानते हैं इनके बारे में।

Pray for Lord Vishnu for a happy life. Burn the lamp in the evening and make aarti in the evening. Make a note of Hanuman ji and recite Hanuman Chalisa. Jalabhishek on Shivling. Place basil plant in the house. After worship, make a conch shell in the whole house. Doing so will calm the whole house. Chant Gayatri Mantra. Use Kapoor every day to worship.

भगवान विष्णु से सुखी जीवन के लिए प्रार्थना करें। शाम को घर में दीप जलाएं और आरती करें। हनुमान जी का ध्यान करें और हनुमान चालीसा का पाठ करें। शिवलिंग पर जलाभिषेक करें। घर में तुलसी का पौधा लगाएं। पूजा के बाद पूरे घर में शंखनाद करें। ऐसा करने पर पूरे घर में शांति व्याप्त हो जाएगी। गायत्री मंत्र का जाप करें। प्रतिदिन पूजा में कपूर का प्रयोग करें।

Never talk in a loud voice at home. There is no sound of collapsing or colliding pottery in the house. If you come home from outside, do not come empty handed. Bring the white dessert and eat it together with the family. Wipe the salt with water on the floor of the house and then burn the agarbatti. Offer perfume to the wife on Friday. Have love in your heart while making a meal in the kitchen. Do not leave false vessels for a long time. Never use prickly plants at home.

घर में कभी ऊंची आवाज में बात न करें। घर में बर्तनों के गिरने या टकराने की आवाज न आए। बाहर से घर आएं तो खाली हाथ न आएं। सफेद रंग की मिठाई लेकर आएं और परिवार के साथ मिलकर खाएं। घर के फर्श पर नमक मिले पानी से पोंछा लगाएं और इसके बाद अगरबत्ती जला दें। शुक्रवार को पत्नी को इत्र भेंट करें। रसोई में भोजन बनाने के दौरान मन में प्रेम भावना रखें। झूठे बर्तनों को देर तक न छोड़ें। घर में कभी भी कांटेदार पौधे न लगाएं।

0
Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *