कुत्तों की दिव्य दृष्टि होने का तात्पर्य पहचान शक्ति से है l अगर आप अँधेरी रात में कहीं से आ रहे हैं l आप कुछ बोले या न बोलें, चुपचाप भी आ रहे हैं तो आपका कुत्ता आपको पहचान जाएगा लेकिन आपकी जगह कोई बाहरी व्यक्ति हो तो उसे भोंकने लगेगा l यह उसकी पहचान शक्ति ही है l कुत्तों में सूंघकर पहचानने की अद्भुत क्षमता होती हैं l कुत्तों की इन्ही क्षमता के कारण जासूसी विभाग में पहचान करने के लिए विशेष किस्म के ट्रेंड कुत्ते रखे जाते हैं जो अपराधी को उनके पद-चिन्हों का पीछा करते हुए उन तक पहुंच जाते हैं जबकि वह अपराधी को जाते हुए नहीं देखे होते l यह उनकी ‘दिव्य दृष्टि’ का कमाल होता है l ऐसी दृष्टि हम मनुष्यों के पास नहीं होती l

0
Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *